MLA Full Form in Hindi।What is the full form of MLA in hindi

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका इस लेख पर,आज हम इस लेख में बात करेंगे , MLA Full Form in Hindi उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आएगा। और मैं कोशिश करूंगा कि आपको इस लेख पर MLA के विषय में संपूर्ण जानकारी दे सकूं। जानकारी को प्राप्त करने के लिए लेख को पूरा पढ़ें धन्यवाद

भारत एक लोकतांत्रिक देश है लोकतांत्रिक देश में जनता के प्रतिनिधि जनता के द्वारा चुनाव प्रक्रिया के द्वारा चुने जाते हैं। प्रथम स्तर के चुनाव राष्ट्रीय स्तर के चुनाव होते हैं, जिसमें MP  को चुना जाता है। दूसरे स्तर में राज्य स्तरीय चुनाव होते हैं जिसमें MLA को चुना जाता है। तृतीय स्तर के चुनाव पंचायती राज के चुनाव होते हैं, जिसमें पंचायत प्रधान पंचायत समिति जिला परिषद के सदस्यों का चुनाव होता है।

MLA , MP ,और  पंचायत के प्रतिनिधि जनता के द्वारा चुने जाते हैं।  इसलिए जनता के प्रति उनका उत्तरदायित्व बनता है, की जनता के लिए कानून का निर्माण करें। जिससे जनता के अधिकार सुरक्षित रह सके। MP  राष्ट्रीय स्तर के चुनावों में चुने जाते हैं, MP चुनने के बाद राष्ट्रीय सरकार का निर्माण करते हैं राष्ट्र के प्रति उत्तरदायित्व बनता है तो जनता के लिए अच्छे कानून बने बनाए। MLA राज्य स्तर  के चुनावों में हिस्सा लेकर MLA बनते हैं, इसलिए उनका दायित्व बनता है राज्य के जनता के लिए कानून का निर्माण करें। पंचायत प्रतिनिधि पंचायत स्तर पर लोगों को सुविधा देने का कार्य करते हैं।

दोस्तों आज के इस लेख का शीर्षक है MLA Full Form in Hindi  इसलिए हम आज इस लेख में MLA के विषय में बात करेंगे। MLA Ki Full Form kya Hoti hai, MLA को कैसे चुना जाता है , MLA के क्या अधिकार हैं, MLA को क्या-क्या कार्य करने  चाहिए

राजनीति शास्त्र की शिक्षा लेने वाले विद्यार्थियों से अक्सर राजनीति शास्त्र के प्रश्न पत्र में यह प्रश्न पूछे जाते है। की what is the full form of mla in hindi , full form of mla in hindi आपके इन प्रशनो का उत्तर भी आपको इस लेख में मिल जायेगा। इस लेख में इस विषय में  पूरी जानकारी दी जाएगी, इसलिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

MLA Full Form in Hindi – Full Form Of MLA in Hindi

MLA Full Form in Hindi  – विधान सभा के सदस्य

भारत देश में सभी राज्य के अलग-अलग विधानसभा है। सभी विधानसभा में विधान सभा के सदस्यों की संख्या अलग-अलग है। जैसे उत्तर प्रदेश में विधान सभा के सदस्यों की जनसंख्या 404, और गोवा में विधानसभा के सदस्यों की संख्या 40 है। विधान सभा के सदस्यों की संख्या राज्य के क्षेत्रफल और राज्य की जनसंख्या पर निर्भर करती है।

MLA Full Form in English

MLA Full Form in English – Member of Legislative Assembly

MLA क्या होता है ? What is MLA in Hindi

MLA जनता द्वारा चुना हुआ विधानसभा का सदस्य होता है MLA  को हम विधायक भी कहते  हैं। MLA अपनी विधानसभा क्षेत्र के की जनता का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करता है। मुख्यमंत्री बनने से पहले या फिर किसी भी राज्य सरकार में मंत्री बनने से पहले उसे राज्य के किसी विधानसभा क्षेत्र से विधायक बनना जरूरी होता है। विधायक बनने के बाद ही प्रदेश का मुख्यमंत्री या फिर राज्य सरकार में मंत्री बन सकता है।

MLA का कार्यकाल कितने वर्ष का होता है ?

MLA  का कार्यकाल का समय या फिर कार्यकाल की अवधि 5 वर्ष की होती है। 5 वर्ष के बाद पुनः चुनाव होते हैं यदि चुनावों में विजय हासिल होती है तो वे अपने पद पर बना रह सकता है नहीं तो उसे अपने पद को छोड़ना पड़ता है। यदि सरकार 5 वर्ष पूर्व ही गिर जाती है तो ऐसे में MLA का कार्यकाल भी समाप्त हो जाता है। भारत में ऐसी बहुत सी विधानसभा क्षेत्र है जहां पर सरकार 5 वर्ष से पूर्व के गिर गई थी जैसे दिल्ली हिमाचल केरला , में  सरकार 5 वर्ष पूर्व से गिर गई थी। ऐसे में  MLA का कार्यकाल 5 बर्ष से पूर्व ही ख़त्म हो गया था। और पुना चुनाव हुए थे।

MLA  बनने के लिए योग्यताएं ?

विधानसभा के सदस्य का चुनाव चुनाव प्रक्रिया के द्वारा होता है। MLA के  चुनाव प्रक्रिया में भाग लेने के लिए कुछ बातें अनिवार्य होती है। विधानसभा के सदस्य को चुनाव लड़ने से पहले आपको इन  बातों का ध्यान रखना चाहिए होता है वह बातें निम्नलिखित है।

  • वह भारत देश का नागरिक हो।
  • जिस राज्य की विधानसभा से MLA  का चुनाव लड़ रहा है,उस राज्य की विधानसभा मतदाता सूची में उसका नाम होना अनिवार्य है।
  • MLA के उम्मीदवार की उम्र 25 वर्ष से अधिक होनी चाहिए है।
  • मानसिक रूप से स्वस्थ होना अनिवार्य है यदि आपको किसी न्यायालय द्वारा पागल घोषित कर दिया गया है तो आप चुनाव प्रक्रिया में भाग नहीं ले सकते हैं।
  • यदि विधानसभा क्षेत्र अनुसूचित जाति जाकिर अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है तो आप उसी जाति से संबंधित होने चाहिए है। अन्यथा आप उस विधानसभा क्षेत्र से चुनाव नहीं लड़ सकते हैं।
  • आपको चुनाव आयोग को अपनी आई के सही सही आंकड़े देने होंगे।
  • उम्मीदवार पर कोई अपराधिक मुकदमा ना हो उसका प्रमाण पत्र भी चुनाव आयोग को देना अनिवार्य है।
  • चुनाव किसी पार्टी के बैनर तले या फिर स्वतंत्र होकर भी लड़ सकता है।

[sp_easyaccordion id=”866″]

MLA के वेतन और भत्ते ?

MLA  का उम्मीदवार चुनाव जीत जाता है तब उसे सरकार की ओर से कुछ वेतन और भत्ते दिए जाते हैं। सभी राज्य की विधान सभा के सदस्यों के वेतन और भत्ते अलग-अलग होते हैं फिर भी मैं आपको इस लेख में एक अंदाजा दे सकता हूं। विधानसभा के सदस्य के वेतन भत्ते कितने कितने होते हैं बह  वेतन और भत्ते निम्नलिखित है।

  • विधानसभा के सदस्य की कम से कम 1,00,000 से 1,25,000  प्रति माह वेतन होता है।
  • निर्वाचन क्षेत्र भत्ता प्रति माह 35,000 से 40,000 होता है।
  • टेलीफोन भत्ता 10,000 से 12,000 होता है।
  • निशुल्क रेल और हवाई यात्रा।
  • डाक और इंटरनेट भत्ता 5,000 से 10,000
  • रहने के लिए सरकारी आबास।
  • डीज़ल के लिए प्रति माह 24,000 से 30 ,000
  • पर्सनल असिस्टेंट रखने के लिए भत्ता।
  • इलाज खर्च के लिए भत्ता।

Note : सबसे अधिक बेतन तेलंगाना में 2.50 लाख है, सबसे कम बेतन त्रिपुरा में 34 हज़ार रूपए। MLA के बेतन और भत्ते कम और ज़्यदा करना राज्य सरकारों पर निर्भर करता है।

MLA के कार्य क्या क्या होते है ?

MLA को निर्बाचन क्षेत्र की जनता चुन कर विधानसभा में भेजती है। उस MLA के अपने निर्बाचन क्षेत्र के प्रति उत्तरदायित्व होता है की जनता भलाई के कार्य करें अन्यथा पूना 5 वर्ष के बाद चुनाव आते हैं जनता अपना फैसला बदल भी देती है। वह कार्य निम्नलिखित है जो MLA को करने चाहिए है।

  • अपने निर्वाचन क्षेत्र की जनता की आवाज को विधानसभा में उठाए।
  • अपने निर्वाचन क्षेत्र में सड़क सुरक्षा और स्वास्थ्य की सेवाओं को सुनिश्चित करें।
  • अपने विधानसभा क्षेत्र में शिक्षा के अच्छे-अच्छे इंस्टिट्यूट स्थापित करें और युवाओं के लिए रोजगार के अवसर को प्रदान करें ।
  • आपातकालीन स्थिति में जनता के समक्ष सबसे आगे खड़ा होने वाला होना चाहिए है।
  • सरकार और जनता के बीच घड़ी के रूप में कार्य करें।
  • सरकार द्वारा बनाए गए नए कानूनों का विरोध करना या समर्थन करना MLA के कार्य अधिकार में आता है।
  • MLA  मंत्री या मुख्यमंत्री बन सकता है , नहीं तो विपक्ष में रहकर भी बिपक्षी  की भूमिका को निभा सकता है।
  • विधायक निधि से अपने क्षेत्र का विकास करना है।

[sp_easyaccordion id=”866″]

अन्तिम शब्दों –

आज हमने इस सीखा की MLA Full Form in Hindi . उम्मीद करता हु की आपकी जानकारी समज में आई होगी। MLA हमारे देश  महत्ब्पूर्ण पदों में से एक है। इसलिए आपको MLA के विषय में जानकारी होना बहुत ही जरुरी है। यदि MLA Full Form in Hindi के विषय में आपके दिमाग में कोई प्रशन है तो हमें जरूर बताये। हम आपकी मदद करने की कोशिश करेंगे।

लेख को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्याबाद ….!!