BMC Full Form in Hindi- BMC के क्या क्या कार्य होते हैं?

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस नए लेख पर, हम इस लेख में BMC Full Form in Hindi के विषय में जानने की कोशिश करेंगे। BMC के सभी पहलुओं पर प्रकाश डालेंगे , BMC Ka Full Form kya hota hai ,और इस लेख में BMC के विषय में विस्तृत जानकारी दी जाएगी। जानकारी को प्राप्त करने के लिए मिले को पूरा पढ़ें।

मुंबई महानगरपालिका   मुंबई शहर को चलाने में अहम रोल अदा करती है। शहर को किस तरह से स्वच्छ बनाया जा सकता है। शहर में लोगों के घर किस तरह से होनी चाहिए। मुंबई शहर में पानी की व्यवस्था कैसे करनी है। नदी नालों और बारिश के पानी को शहर से बाहर कैसे निकालना है। शहर को चलाने के लिए सुनिश्चित तरीके से कार्य करती है।

BMC Full Form

Full Form of BMC in English Bombay Municipal Corporation होती है। परन्तु मुंबई महानगरपालिका को अब (MCGM) The Municipal Corporation of Greater Mumbai  के नाम से बी जाना जाता है।

BMC Full Form in Hindi

हिन्दी में BMC की Full Form बृहन्मुंबई महानगरपालिका(bṛhanmuṃbaī mahānagarapālikā) होती है।

 

BMC Kya hai

भारत में बड़े शहर जैसे दिल्ली मुंबई हैदराबाद कोलकाता आदि जैसे बड़े महानगरों को चलाने के लिए महानगर पालिका का गठन किया जाता है। महानगर पालिका शहर को सुचारू रूप चलाने में अपना अहम योगदान अदा करती है। शहर में रहने वाले सभी नागरिकों को अच्छी सुविधा प्रदान करना महानगरपालिका का प्रथम कार्य होता है।

मुंबई महानगर को चलाने के लिए भी महानगर पालिका का गठन किया गया है जिसको हम BMC(Bombay Municipal Corporation ) के नाम से जानते हैं। BMC (Bombay Municipal Corporation) भारत की सबसे महंगी महानगरपालिका है। जिसका मुख्य कारण यह भी हो सकता है कि मुंबई शहर को भारत की आर्थिक राजधानी कहा जाता है।

BMC का गठन कब किया गया था ?

BMC का गठन 1888 में बॉम्बे म्युनिसिपल कारपोरेशन एक्ट के तहत हुआ था। जब भारत अग्रेजो के गुलाम था। महानगरपालिका का म्युनिसिपल कमिश्नर IAS रैंक का अधिकारी होगा।

मुंबई महानगरपालिका का चुनाव हर पांच पांच बर्ष के बाद होते है।मुंबई महानगरपालिका के चुनाव में जीते हुए सदस्य अध्यक्ष का चयन करते हैं। मुंबई महानगरपालिका में जीते हुए  सदस्य  का मुख्य कार्य विकास को प्राथमिकता देना होता है।

BMC में कुल कितनी सीट होती है?

मुंबई महानगरपालिका  में कुल 227 सीटें हैं। मुंबई महानगर पालिका में जिस पार्टी की ज्यादा सीटें होती है उसी पार्टी का मेयर बनता है। मुंबई महानगरपालिका में इस समय सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना है। इसलिए मुंबई महानगरपालिका का अध्यक्ष भी शिवसेना का ही है। 2015 में कृष्णा विश्वास राव पहली बार मुंबई महानगर पालिका की महिला अध्यक्ष बनी थी।

BMC में किस पार्टी की कितनी सीटें हैं? 2021

  • शिव सेना : 92 सीट
  • भारतीय जनता पार्टी : 82 सीट
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस :30 सीट
  • समाजबादी पार्टी :06 सीट
  • ऑल इंडिया मजलिस-इत्तेहादुल मुस्लिमीन :02 सीट
  • महाराष्ट्रा नव निर्माण सेना :01
  • अन्य :05 सीट

बर्तमान समय में मुंबई महानगरपालिका की  मेहर किशोरी पेडनेकर है।

BMC से जुड़े हुए महत्वपूर्ण तथ्य –

  • मुंबई महानगरपालिका  एशिया की सबसे आमिर महानगरपालिका है।
  • BMC का बार्षिक बजट भारत के कुछ छोटे राज्य से भी अधिक है।
  • मुंबई महानगरपालिका बार्षिक बजट भारत के 10 महानगरपालिका के बराबर है बह महानगरपालिका कोलकाता ,सूरत ,चैन्नई ,हैदराबाद ,पुणे अहमदाबाद ,जयपुर ,नागपुर ,नासिक ,और पटना।

BMC से जुड़ी हुई सुर्खियां –

  • जब BMC ने कंगना राणावत का घर अवैध बता कर उसे तोड़ दिया था और कंगना राणावत ने बीएमसी पर दो करोड़ का हर्जाना लगाया था उस समय बीएमसी बहुत ही ज्यादा सुर्खियों में रहा था।
  • BMC ने अभिनेता सोनू सूद पर भी FIR दर्ज की थी। BMC का ब्लेम था कि अभिनेता सोनू सूद ने अपने रिहायशी मकान को होटल में तब्दील किया है। और इसकी अनुमति बीएमसी के नहीं ली है।

BMC के क्या क्या कार्य होते हैं?

मुंबई महानगरपालिका  के निम्नलिखित कार्य होते हैं, जो BMC के आवश्यक कार्यों की सूची में आते हैं।

  • शहर में नई सड़के बनाना,और पुरानी सड़कों की मरम्मत करना।
  • मुंबई शहर में फ्लाईओवर का निर्माण करना।
  • शहर में या फिर जहां पर आवश्यक है वहां पर स्ट्रीट लाइट लगाना।
  • शहर में हॉस्पिटल एवं स्कूल बनाना और पुराने हॉस्पिटल एवं स्कूल को सुचारु रुप से चलाना।
  • यदि कोई सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करता है तो अवैध कब्जे को छुड़ाना।
  • शहर में सीवरेज व्यवस्था की देखभाल करना।
  • गंदे पानी की निकासी की व्यवस्था को दुरुस्त रखना।
  • शहर को स्वच्छ रखना, कचरे के लिए उचित व्यवस्था करना।
  • City में बिजली की व्यवस्था को दुरुस्त रखना यह कार्य भी BMC के अंडर आता है।
  • शहर में गंदे पानी की नालियों को दुरुस्त रखना।
  • जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र देना।
  • विवाह प्रमाण पत्र देना।

अन्तिम शब्दों में –

प्रिये पाठको आज हमने इस  लेख में हमने पढ़ा  BMC Kya hai .BMC का गठन कब किया गया था ?, मुंबई महानगरपालिका  के क्या क्या कार्य होते हैं?, आदि। उम्मीद करता हु की आपको हमारा लेख पसन्द आया होगा। लेख को  सोशल मीडिया पर शेयर ताकि करे ताकि लोगो को भी इस इस की जानकारी मिले।

आगे पढ़े –

B.A Full Form in Hindi

LAC Full Form in Hindi

PHD Full Form in Hindi

MSP Full Form in Hindi

लेख को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धनयबाद !!

Spread the love